शुक्रवार, 7 सितंबर 2012

साक्षरता का अपना ही एक उद्देश्‍य है !!!











दिवस कुछ विशेष है,
साक्षरता का अपना ही एक उद्देश्‍य है
लिखना-पढ़ना ऐसे
जैसे जला दिया हो किसी ने
ज्ञान का दीपक
अंधकार मिटाने को
शिक्षा की अलख जगाने को
हर हाथ में कलम थमा
मन को जागरूक बनाने को
एक संकल्‍प लिया है
हर बेटी को साक्षर करना होगा
जिससे पूरा परिवार
सुसंस्‍कृत होगा
......
साक्षर होगी बिटिया तो
ज्ञान की ज्‍योति जलाएगी,
रोशन होगा जीवन उसका
जग में वो इससे इक
नई चेतना लाएगी
हमने जो संकल्‍प लिया है
उसको ये ही पूरा कर पाएगी
दिवस कुछ विशेष है,
साक्षरता का अपना ही एक उद्देश्‍य है !!!

28 टिप्‍पणियां:

  1. आपकी यह बेहतरीन रचना शनिवार साक्षरता दिवस 08/09/2012 को http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर लिंक की जाएगी. कृपया अवलोकन करे एवं आपके सुझावों को अंकित करें, लिंक में आपका स्वागत है . धन्यवाद!

    उत्तर देंहटाएं
  2. पढोगे लिखोग बनोगे नवाब..

    जी बहुत सुंदर, अच्छी रचना

    उत्तर देंहटाएं
  3. साक्षर होगी बिटिया तो
    ज्ञान की ज्‍योति जलाएगी...... बहुत सुन्दर..

    उत्तर देंहटाएं
  4. दिवस कुछ विशेष है,
    साक्षरता का अपना ही एक उद्देश्‍य है !!!

    बहुत खूब

    उत्तर देंहटाएं
  5. साक्षरता दिवस पर उद्देश्य पूर्ण रचना..

    उत्तर देंहटाएं
  6. वाह बेहद उम्दा !

    मुझ से मत जलो - ब्लॉग बुलेटिन ब्लॉग जगत मे क्या चल रहा है उस को ब्लॉग जगत की पोस्टों के माध्यम से ही आप तक हम पहुँचते है ... आज आपकी यह पोस्ट भी इस प्रयास मे हमारा साथ दे रही है ... आपको सादर आभार !

    उत्तर देंहटाएं
  7. एक और बेहतरीन पोस्ट के लिए बधाइयाँ !

    उत्तर देंहटाएं
  8. बेहतरीन पोस्ट के लिए बधाइ

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत सुन्दर और सार्थक सृजन....

    सस्नेह
    अनु

    उत्तर देंहटाएं
  10. हमने जो संकल्‍प लिया है
    उसको ये ही पूरा कर पाएगी
    दिवस कुछ विशेष है,
    साक्षरता का अपना ही एक उद्देश्‍य है !!!

    अर्थपूर्ण, विचारणीय भाव

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहुत अच्छी प्रस्तुति!
    इस प्रविष्टी की चर्चा कल शनिवार (08-09-2012) के चर्चा मंच पर भी होगी!
    सूचनार्थ!

    उत्तर देंहटाएं
  12. बहुत बढ़िया कविता, काबिले तारीफ ।
    मेरी नयी पोस्ट -"क्या आप इंटरनेट पर ऐसे मशहूर होना चाहते है?" को अवश्य देखे ।धन्यवाद ।
    मेरे ब्लॉग का पता है - harshprachar.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  13. बहुत बढ़िया उत्कृष्ट प्रस्तुति,,,,बधाई,,,,

    उत्तर देंहटाएं
  14. बेटियों का साक्षर होना बहुत ही आवश्यक है.. साक्षर-सभ्य समाज की नीव है ये..
    उम्दा रचना...
    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  15. सहज सरल अभिव्यक्ति ,सीधी सच्ची बात .आधी दुनिया और वह बेहतर आधी दुनिया (बोलेतो बेटर हाल्फ )दुनिया शिक्षा के चिराग से रौशनी न ले पाए जिस समाज में वह तरक्की कैसे करेगा ?
    ram ram bhai
    शुक्रवार, 7 सितम्बर 2012
    शब्दार्थ ,व्याप्ति और विस्तार :काइरोप्रेक्टिक

    उत्तर देंहटाएं
  16. बहुत बढि़या !

    जरूरत है बेटी को साक्षर बनाने की
    साथ में अच्छा होगा बहुत ही
    कोशिश की जाय कुछ कुछ
    माँ बाप को भी पढा़ने की !

    उत्तर देंहटाएं
  17. बहुत ही सुन्दर और सार्थक रचना...
    :-)

    उत्तर देंहटाएं
  18. साक्षरता दिवस को सार्थक करती लाजवाब रचना ... इसके महत्त्व को बाखूबी बयान किया है ...

    उत्तर देंहटाएं
  19. एक महिला के साक्षर होने का अर्थ लगभग एक मोहल्ले का साक्षर होना है. सुंदर पैग़ाम.

    उत्तर देंहटाएं
  20. दिवस कुछ विशेष है, साक्षरता का अपना ही एक उद्येश्य है।

    अतिसुंदर रचना।

    उत्तर देंहटाएं
  21. सभी साक्षर बने, सभी समुन्नत बनें।

    उत्तर देंहटाएं

ब्लॉग आर्काइव

मेरे बारे में

मेरी फ़ोटो
मन को छू लें वो शब्‍द अच्‍छे लगते हैं, उन शब्‍दों के भाव जोड़ देते हैं अंजान होने के बाद भी एक दूसरे को सदा के लिए .....