मंगलवार, 14 अगस्त 2012

आजा़दी का ज़श्‍न कुछ इस तरह से हमें मनाना है ...















आज़ादी का ज़श्‍न कुछ इस तरह से हमें मनाना है,
रोता हो  बच्‍चा जो उसे खिलखिला कर हँसाना है ।

उसकी मुस्‍कराहटों  में बहते आंसुओं को पोछकर,
शहीदों की गौरवगाथा उन्‍हें आज फिर से बताना है ।

कुर्बानियों पे जिनकी नाज़ करता है तिरंगा आज भी,
ऐसे बलिदानियों की याद में उसे झूम के लहराना है ।

सारे जहां से अच्‍छा हिन्‍दोस्‍तां हमारा है गीत वही जिसे,
लिखा है इकबाल ने बच्‍चे - बच्‍चे को वाकि़फ़ कराना है ।

मंदिर की घंटी तो कभी मस्जिद की अजा़न है तिरंगा ये,
जय हिन्‍द के घोष में सदा इसका सम्‍मान ही सिखाना है ।

28 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत सुन्दर व् सार्थक प्रस्तुति.स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनायें तिरंगा शान है अपनी ,फ़लक पर आज फहराए

    उत्तर देंहटाएं

  2. आज़ादी का ज़श्‍न कुछ इस तरह से हमें मनाना है,
    रोता हो बच्‍चा जो उसे खिलखिला कर हँसाना है । ... सच्ची आज़ादी

    उत्तर देंहटाएं
  3. सारे जहां से अच्‍छा हिन्‍दोस्‍तां हमारा है गीत वही जिसे,
    लिखा है इकबाल ने बच्‍चे - बच्‍चे को वाकि़फ़ कराना है ।

    मंदिर की घंटी तो कभी मस्जिद की अजा़न है तिरंगा ये,
    जय हिन्‍द के घोष में सदा इसका सम्‍मान ही सिखाना है ।

    ऐसी सुन्दर रचना के लिए प्रणाम स्वीकारें निःशब्द करती उर्जावान

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत सुन्दर...स्वतन्त्रतादिवस की पूर्व संध्या पर बहुत-बहुत शुभकामनाएँ!

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत सुन्दर ऐसे ही आजादी मनानी
    चाहिए...बच्चों - बच्चों के मन में
    भारत के प्रति सम्मान को बढ़ाना चाहिए.
    सुन्दर भाव...
    स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाये

    उत्तर देंहटाएं
  6. कुर्बानियों पे जिनकी नाज़ करता है तिरंगा आज भी,
    ऐसे बलिदानियों की याद में उसे झूम के लहराना है ।
    ...हमें अपने शहीदों पर नाज़ है
    स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनायें....!!!

    उत्तर देंहटाएं
  7. आज़ादी के दिन की शुभकामनाएँ

    उत्तर देंहटाएं
  8. स्वतन्त्रता दिवस की हार्दिक शुभ-कामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  9. सुंदर भाव.
    स्वतन्त्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं.

    उत्तर देंहटाएं
  10. वे क़त्ल होकर कर गये देश को आजाद,
    अब कर्म आपका अपने देश को बचाइए!

    स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाए,,,,
    RECENT POST...: शहीदों की याद में,,

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहुत सुन्दर प्यारी प्रस्तुति स्वतंत्रता दिवस की बधाई आपको

    उत्तर देंहटाएं
  12. सच में, आजादी का उत्सव इसी तरह मनाना चाहिये हमें।

    उत्तर देंहटाएं
  13. "मंदिर की घंटी तो कभी मस्जिद की अजा़न है तिरंगा ये,
    जय हिन्‍द के घोष में सदा इसका सम्‍मान ही सिखाना है"

    सलाम आपकी सोच और आपके शब्दों को सदा जी! वाह !

    उत्तर देंहटाएं
  14. बहुत खूब...वन्दे मातरम...

    उत्तर देंहटाएं
  15. वन्दे मातरम.......बहुत सुन्दर रचना के लिए बधाई ............

    उत्तर देंहटाएं
  16. आज़ादी के दिन को सही तरीके से मनाने की उदात्त भावना आपने इस कविता में भर दी है. बहुत सुंदर.

    उत्तर देंहटाएं
  17. बेहद उम्दा पोस्ट सदा जी इतना ही हम करलें सच्चे दिल से तो बहुत है आज़ादी का जशन मनाने के लिए।

    उत्तर देंहटाएं

ब्लॉग आर्काइव

मेरे बारे में

मेरी फ़ोटो
मन को छू लें वो शब्‍द अच्‍छे लगते हैं, उन शब्‍दों के भाव जोड़ देते हैं अंजान होने के बाद भी एक दूसरे को सदा के लिए .....