मंगलवार, 10 नवंबर 2009

कौन सा शब्‍द ...?

जाने कब

कौन सा शब्‍द

रच देता है इतिहास

जिससे अमर

हो जाती हैं रचनायें

जाने कौन सा पल

घटित हो जाता है

जीवन में

जाने कब

जब वह अविस्‍मरणीय

हो जाता है,

जाने वक्‍ता हो जाता है

जीवन में कब मौन

खो जाता है हर लफ्ज,

उसका जाने कब

घटित हो जाती हैं

जीवन में

ऐसी घटनाएं

जब वह अपनों के बीच

रहकर भी तन्‍हा हो जाता है !


11 टिप्‍पणियां:

  1. खो जाता है हर लफ्ज,

    उसका जाने कब

    घटित हो जाती हैं

    जीवन में

    ऐसी घटनाएं

    जब वह अपनों के बीच

    रहकर भी तन्‍हा हो जाता है !


    sahi kaha aapne....

    yeh shabd hi to hain jo yahan wahan gir jaate hain..... phir ek ek shabd chun chun kar uthana padta hai... phir jo itihaas rach dete hain.....

    bahut achchi lagi yeh kavita....

    उत्तर देंहटाएं
  2. जाने कब
    कौन सा शब्‍द
    रच देता है इतिहास
    वाकई न जाने कब और किस कथन से इतिहास् रच जाये
    बहुत सुन्दर

    उत्तर देंहटाएं
  3. बिल्कुल सही एहसास है आपके .........अंतिम की पंक्तियाँ बहुत कुछ कहगयी!

    उत्तर देंहटाएं
  4. जब वह अपनों के बीच

    रहकर भी तन्‍हा हो जाता है !

    yahi aaj ka sach hai ..sundar likha hai aapne ..shukriya

    उत्तर देंहटाएं
  5. AISA AKSAR HOTA है ..... शब्द मौन ही रह जाते हैं और UMR BHAR DARD DETE RAHTE हैं APNE KO ..... बहूत ACHHAA LIKHA AHI ..

    उत्तर देंहटाएं
  6. जाने कब

    घटित हो जाती हैं

    जीवन में

    ऐसी घटनाएं

    जब वह अपनों के बीच

    रहकर भी तन्‍हा हो जाता है !

    Wah, bahut sundar !!

    उत्तर देंहटाएं
  7. जीवन में

    ऐसी घटनाएं

    जब वह अपनों के बीच

    रहकर भी तन्‍हा हो जाता है !
    बहुत सुन्दर रचना है बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  8. इस कौन का तो जवाब हम भी ढूँढ रहे हैं।
    सुन्दर अभिव्यक्ति के लिए बधाई!

    उत्तर देंहटाएं
  9. जाने क्यूँ उदास सी है नज़्म
    वक्ता होते हुए भी मौन लगी
    जाने क्यूँ खोये -खोये से हैं लफ्ज़
    अपनों के बीच कहीं तन्हा सी है khdi .....

    उत्तर देंहटाएं
  10. sabse badi traasdi yahi hai...apno ke beech tanha rahna....man ko chhoo lene wali sanvedansheel rachna

    उत्तर देंहटाएं

ब्लॉग आर्काइव

मेरे बारे में

मेरी फ़ोटो
मन को छू लें वो शब्‍द अच्‍छे लगते हैं, उन शब्‍दों के भाव जोड़ देते हैं अंजान होने के बाद भी एक दूसरे को सदा के लिए .....