शनिवार, 27 जनवरी 2018

दुआओं का ताबीज़ !!!!

दुआओं का ताबीज़
डाला है माँ ने
गले में बचपन से
हर मुश्किल
बस खफ़ा होकर
गुज़र जाती है !!

सोमवार, 8 जनवरी 2018

सपनों के लिये !!!

क्या आती है
तुम्हे सपनो के लिये
खरीदनी कोई उम्मीद
क्या तुमने लगाई है
किसी सपने को
सोफि़याई क्रीम
नहीं ना तो कैसे पूरे होंगे
तुम्हारे सपने
उनका जतन करना सीखो
जिस दिन
तुम प्यार से उन्हें
सहेज़ना सीख जाओगे
यकीं मानो तुम्हारे सपने
अपने आप पूरे हो जाएंगे !!!

सोमवार, 1 जनवरी 2018

नूतन वर्ष !!!

नूतन वर्ष
दस्तक़ देता द्वार
स्वागत करो !
..
अभिनन्दन
नववर्ष का हुआ
हुई रौशनी !
..
नव प्रभात
नूतन दिवस की
हर्षित मन !
...
नव वर्ष की
नई सुबह आई
उम्मीदों संग !

ब्लॉग संग्रह

मेरे बारे में

मेरी फ़ोटो
मन को छू लें वो शब्‍द अच्‍छे लगते हैं, उन शब्‍दों के भाव जोड़ देते हैं अंजान होने के बाद भी एक दूसरे को सदा के लिए .....