सोमवार, 23 नवंबर 2020

रिश्तों की उम्र लम्बी हो जाती है !!


आंकलन तेरा,

तेरे बग़ैर तेरा जब भी किया

सारी कमियों को

नजरअंदाज मन ने कर दिया

बिना मेरे कहे ही

सच तो यही है न,

कि दिलों के रिश्तों में...

दिमाग़ का दख़ल, न रखा जाये

तो, रिश्तों की उम्र लम्बी हो जाती है !!!





सोमवार, 2 नवंबर 2020

कड़वी जिंदगी का टॉनिक !!!

 ...1

ये सुधियाँ भी

हुई बावरी देखो

चंचल मन।

…2

मीठी-सी यादें
कड़वी जिंदगी का
टॉनिक जैसे।
...3
सूनी मुँडेर
यादों का कागा बोले,
मन चहके।
...4
मन की नदी,
यादों के सागर से
मिली खो गई।
...5
यादों की डोर
बाँधे मन– पतंग
उड़ती जाए।
...6
यादों के मोती
चुगता जाए मन
फिर भी भूखा।

...



रविवार, 6 सितंबर 2020

निर्मल स्नेह भर अँजुरी में ...

 


मन की नदी में 

तर्पण किया है पापा भावनाओं से,

भीगा सा मन लिए ...

इस पितृपक्ष 

फिर बैठी हूँ आकर, भोर से ही

छत पर, जहाँ कौए के 

कांव - कांव करते शब्द

और सूरज की बढ़ती लालिमा

के मध्य, निर्मल स्नेह भर अंजुरी में

कर रही हूँ अर्पित, 

नेह की कुछ बूंदें गंगाजल के संग 

आशीष की अभिलाषा लिए!!!

…..

© सीमा 'सदा'






    

शनिवार, 22 अगस्त 2020

ये स्मृतियाँ आपकी !!!

 स्मृतियाँ जब भी तर्क करती

पापा मैं आपको सोचती,

और फिर आपकी हथेली में

होती मेरी उँगली,

जिया हुआ,बेहद सुखद क्षण

सजीव हो उठता,

या फिर …

जब मेरे दोनों बाजू थाम

मुझे आप, हवा में उछालते

मैं चहक कर कहती

और ऊपर …

लगता था वक़्त बस यहीं थम जाये!

...

सबने अपने जीवन में

कभी न कभी, ये जरूर सोचा होगा,

पर वक़्त को गुज़रने की

हमेशा जल्दी ही रही,

पूरे तेईस वर्ष गुज़र गये

बिन आपके पापा,

पर एक भी स्मृति की,

विस्मृति न हुई आज तक!

ना ही कभी होगी!!

आज फिर सजा है

मेरे मन का आँगन,आपकी

मीठी स्मृतियों से

नमी हैं पलकों के आसपास,

स्मरण आपका ...

करते-करते, जी लिए

बचपन के अनगिनत पल,

सच आपकी तरह ही

अनमोल हैं ..

ये स्मृतियाँ आपकी !!!

....


मंगलवार, 28 जुलाई 2020

पग धरो दिव्यता !!!

कर कमल
पग धरो दिव्यता
आलोकित हुई धरा,
कण-कण है शोभित
आगमन से आपके
मन मुग्ध हुआ
जो अधीर था !
….
कामना शुभता की
ह्रदय में संजोये
अभिनन्दन है
आदिशक्ति का,
कर कमल
पग धरो दिव्यता !!
....

ब्लॉग संग्रह

मेरे बारे में

मेरी फ़ोटो
मन को छू लें वो शब्‍द अच्‍छे लगते हैं, उन शब्‍दों के भाव जोड़ देते हैं अंजान होने के बाद भी एक दूसरे को सदा के लिए .....