शनिवार, 5 अगस्त 2017

दोस्ती का बंधन भी !!!

कुछ रिश्ते
होते हैं प्रगाढ़
जिनकी रगों में
नहीं दौड़ता रक्त
आपसी सम्बन्धों का
बस बन्धन होता है
मन का मन से !
...
कुछ रिश्तों की
बात होती है अनोखी
ज़िक्र होता है इनका
जब भी
तो होता है एहसास
ये रूहानी रिश्ते हैं
दूरियाँ इन्हें क्या बांटेंगी !
दोस्ती का बंधन भी
कुछ ऐसा ही एहसास देता है !!!!
...

ब्लॉग संग्रह

मेरे बारे में

मेरी फ़ोटो
मन को छू लें वो शब्‍द अच्‍छे लगते हैं, उन शब्‍दों के भाव जोड़ देते हैं अंजान होने के बाद भी एक दूसरे को सदा के लिए .....