शुक्रवार, 12 अगस्त 2011

तिरंगे पे समर्पित ....







आजादी
जो हमने पाई है कहता है दिवस याद करो उन्‍हें,
कैसे आजाद हुए हम किनके कांधों पे ये विरासत आई है ।

हंस के कटा दिये शीष नौजवानों ने वतन के नाम पे,
आजाद भारत के सपने देख अपनी जान भी गंवाई है ।

कुर्बानियां उनकी बन गईं निशानियां किस्‍से कहानियां,
रचनाएं कह शहीदों की कितनों ने गौरव गाथा गाई है ।

नन्‍हा बालक अर्पित करने को लेकर सुमन नन्‍हें हांथों,
तिरंगे पे जब चला मां ने शीष नवाने की बात दुहराई है ।

चमन में खिला फूल मुस्‍काया कलियो को भी बतलाया,
खुशकिस्‍मत हैं जो तिरंगे पे समर्पित होने की घड़ी आई है ।


35 टिप्‍पणियां:

  1. swantrata diwas par umda kavita....badhiya....
    dhanyawaad

    http://aarambhan.blogspot.com/2011/08/blog-post_12.html

    उत्तर देंहटाएं
  2. विजयी विश्व तिरंगा प्यारा झंडा ऊँचा रहे हमारा ..भाव पूर्ण रचना
    सदा जी शुभकामनाएं !!!

    उत्तर देंहटाएं
  3. सच्चाई को वयां करती हुई अत्यंत सुन्दर रचना !

    जय हिंद जय भारत

    उत्तर देंहटाएं
  4. तिरंगे को सलाम. तिरंगे के साथ न्याय की मूर्ति को खड़ा करके उसका सम्मान बढ़ाया है.

    उत्तर देंहटाएं
  5. यथार्थपरक रचना ......जय हिंद .वन्दे मातरम

    उत्तर देंहटाएं
  6. आपकी रचनात्मक ,खूबसूरत और भावमयी
    प्रस्तुति कल के तेताला का आकर्षण बनी है
    तेताला पर अपनी पोस्ट देखियेगा और अपने विचारों से
    अवगत कराइयेगा ।

    http://tetalaa.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  7. देशभक्ति भाव लिए सुंदर, प्यारी कविता

    उत्तर देंहटाएं
  8. चमन में खिला फूल मुस्‍काया कलियो को भी बतलाया,
    खुशकिस्‍मत हैं जो तिरंगे पे समर्पित होने की घड़ी आई है ।
    Behad sundar panktiyan! Behatreen rachana!

    उत्तर देंहटाएं
  9. देशभक्ति से भरी प्रभावशाली रचना...

    उत्तर देंहटाएं
  10. खुशकिस्‍मत हैं जो तिरंगे पे समर्पित होने की घड़ी आई है ...
    बधाई एवं शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहुत सुन्दर सारगर्भित रचना , सुन्दर भावाभिव्यक्ति , आभार
    रक्षाबंधन एवं स्वाधीनता दिवस के पावन पर्वों की हार्दिक मंगल कामनाएं.

    उत्तर देंहटाएं
  12. सुंदर रचना ,स्वाधीनता दिवस की बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  13. बहुत अच्छी प्रस्तुति है!
    रक्षाबन्धन के पावन पर्व पर हार्दिक शुभकामनाएँ!
    स्वतन्त्रतादिवस की भी बधाई!

    उत्तर देंहटाएं
  14. चमन में खिला फूल मुस्‍काया कलियो को भी बतलाया,
    खुशकिस्‍मत हैं जो तिरंगे पे समर्पित होने की घड़ी आई है ...

    सुन्दर रचना ... आज़ादी पे पर्व पे लिखी लाजवाब रचना है ...

    उत्तर देंहटाएं
  15. सामयिक एवं सटीक प्रस्तुति

    उत्तर देंहटाएं
  16. नन्‍हा बालक अर्पित करने को लेकर सुमन नन्‍हें हांथों,
    तिरंगे पे जब चला मां ने शीष नवाने की बात दुहराई है ।
    चमन में खिला फूल मुस्‍काया कलियो को भी बतलाया,
    खुशकिस्‍मत हैं जो तिरंगे पे समर्पित होने की घड़ी आई है ।


    देशप्रेम से ओतप्रोत सुन्दर रचना....

    उत्तर देंहटाएं
  17. कविता बहुत सुंदर है.

    स्वतंत्रता दिवस और रक्षाबंधन की आपको बहुत बहुत शुभकामनायें.

    उत्तर देंहटाएं
  18. देशभक्ति से भरी प्रभावशाली रचना...स्वतंत्रता दिवस की आपको बहुत बहुत शुभकामनायें...

    उत्तर देंहटाएं
  19. आपके इस सुन्दर प्रविष्टि की चर्चा कल दिनांक 15-08-2011 को चर्चा मंच http://charchamanch.blogspot.com/ पर भी होगी। सूचनार्थ

    उत्तर देंहटाएं
  20. सार्थक रचना.....

    स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं.

    उत्तर देंहटाएं
  21. सार्थक, प्रेरक प्रस्तुति के लिए आभार!
    स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनायें.

    उत्तर देंहटाएं
  22. This is fine composition with true feeling of Independence..... thanka ji .

    उत्तर देंहटाएं
  23. स्वतन्त्रता की वर्षगाँठ पर बहुत-बहुत शुभकामनाएँ!
    जय हिंद जय भारत
    ***************

    उत्तर देंहटाएं
  24. हंस के कटा दिये शीष नौजवानों ने वतन के नाम पे,
    आजाद भारत के सपने देख अपनी जान भी गंवाई है ।

    नमन...
    राष्ट्र पर्व की सादर बधाइयां...

    उत्तर देंहटाएं
  25. स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  26. वाह...देश प्रेम से ओतप्रोत इस रचना के लिए बधाई स्वीकारें

    नीरज

    उत्तर देंहटाएं

ब्लॉग आर्काइव

मेरे बारे में

मेरी फ़ोटो
मन को छू लें वो शब्‍द अच्‍छे लगते हैं, उन शब्‍दों के भाव जोड़ देते हैं अंजान होने के बाद भी एक दूसरे को सदा के लिए .....