शनिवार, 3 नवंबर 2018

उत्सव के रंग .....

उत्सव के रंग से रंगी हो
द्वार की रंगोली
माँ लक्ष्मी के मङ्गल चरण
हों ड्योढ़ी पर
शुभ लाभ का निवास हो
स्वास्तिक प्रतीक के संग
उत्सव का आनन्द हो
घर के कोने-कोने में
दीपावली की शुभकामनाओं का
प्रकाश अन्तर्मन को
सदा यूँ ही आलोकमय रखे _/\_
....
© सीमा 'सदा'


6 टिप्‍पणियां:

  1. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल रविवार (04-11-2018) को "परिभाषायें बदल देनी चाहियें" (चर्चा अंक-3145) पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    --
    करवाचौथ की
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    उत्तर देंहटाएं
  2. दीपोत्सव की अनंत मंगलकामनाएं !

    उत्तर देंहटाएं

ब्लॉग आर्काइव

मेरे बारे में

मेरी फ़ोटो
मन को छू लें वो शब्‍द अच्‍छे लगते हैं, उन शब्‍दों के भाव जोड़ देते हैं अंजान होने के बाद भी एक दूसरे को सदा के लिए .....